अपनी त्वचा को पहचानें

अक्सर महिलाएं अपनी त्वचा को कभी ऑयली कहती हैं व कभी रूखी-सूखी। गर्मियों में जब पसीने के साथ-साथ त्वचा से तेल निकलता है तो उनका ख्याल होता है कि उनकी त्वचा तैलीय है पर सर्दी के मौसम में वही त्वचा जब शुष्क हो जाती है तो वे सोचती हैं कि उनकी त्वचा रूखी-सूखी है।
दरअसल ये बदलाव तो मौसम के कारण आते हैं क्योंकि गर्मी के दिनों में सूर्य की किरणों का प्रभाव आपके चेहरे पर अधिक पड़ता है इसलिए सौंदर्य विशेषज्ञों का मानना है कि गर्मियों में शुष्क त्वचा भी तैलीय हो जाती है। इसी तरह सर्दी के मौसम में नमी की कमी होती है। ठंडी हवाएं आपके चेहरे से माश्चराइजर खत्म कर देती हैं और आपकी त्वचा शुष्क हो जाती है।
सौंदर्य विशेषज्ञों के अनुसार अपने चेहरे की देखभाल करने से पूर्व आपके लिए यह जानना बेहद आवश्यक है कि आपके चेहरे की त्वचा किस प्रकार की है तैलीय, शुष्क या सामान्य।
घर पर करें टेस्ट:- थोड़े से टिशू पेपर या कागज के नेपकिन लें। सुबह उठते ही, चेहरे को धोने से पूर्व टिशू पेपर को धीरे-से माथे, नाक, ठोड़ी और गालों पर रगड़ें। फिर दूसरी तरफ से भी इसी प्रक्रिया को दोहराएं। यदि माथे, नाक व ठोड़ी पर इस्तेमाल किए गए टिशू पेपर तैलीय हों और गालों पर प्रयोग किया गया नेपकिन साफ हो तो इसका अर्थ है कि आपकी मिली-जुली त्वचा है। यदि सभी नेपकिन तैलीय हों तो जाहिर है कि आपकी त्वचा तैलीय है। इनके साफ होने से पता चलता है कि आपकी त्वचा शुष्क है।
त्वचा की देखभाल:- अब आप जान जाएंगी कि आपकी त्वचा किस प्रकार की है तो इसकी देखभाल करने में आपको आसानी होगी। चेहरे की सफाई प्रत्येक मौसम में आवश्यक है।
इसे आप रात को सोने से पूर्व रूई के फाहे की सहायता से एस्ट्रिजेंट, क्लींजिग मिल्क, खीरे के रस इत्यादि से साफ कर सकती हैं। इससे मेकअप साफ होता है व रोमछिद्र भी खुल जाते हैं। यह मृत कोशिकाओं को हटाने में सहायक है। यदि आपकी त्वचा अत्यधिक तैलीय है तो पहले चेहरे को ताजे पानी से धोएं व फिर एस्ट्रिजेंट से साफ करें।
टोनिंग-क्लीजिंग दोनों ही चेहरे के लिए काफी जरूरी हैं। टोनिंग त्वचा के रोमछिद्रों को उत्तेजित करने में सहायक है। यह त्वचा को सजीव बनाती है तथा इससे रक्त की गति तेज हो जाती है। गुलाबजल को आप टोनर के रूप में इस्तेमाल कर सकती हैं। बैन्जॉइन की कुछ बूंदें पानी के कटोरे में डालकर भी प्रयोग कर सकती हैं।
त्वचा पर नमी रहना भी बेहद जरूरी है। इसके लिए आप क्रीम या माश्चराइजरयुक्त लोशन का प्रयोग करें। बिना माश्चराइजर के चेहरे पर मेकअप न करें।
इन्हें अपनाएं:-
त अगर आपकी त्वचा तैलीय है तो चार बादाम लें। इन्हें थोड़े से दूध में रातभर के लिए भिगोकर रख दें। सुबह इन्हें छीलकर पीस लें। अब इसमें एक चम्मच दूध मिलाएं व कुछ बूंदें गुलाब का तेल डालें। इसे एक शीशी में डालकर रख लें। रोजाना रात को चेहरे पर लगाएं व लगभग बीस मिनट बाद चेहरे को ताजे पानी से धो लें।
त मौसमी फलों को चेहरे पर लगाएं क्योंकि इनमें पर्याप्त माश्चराइजर होते हैं जो आपके चेहरे को नमी प्रदान करते हैं। किसी भी मौसमी फल को काटें व उसका जूस निकाल लें या फिर मिक्सी में पीस लें। इसे चेहरे पर प्रयोग करें लेकिन ध्यान रहे, फलों के पेस्ट या जूस को तुरंत चेहरे पर लगा लें  वरना उसके पोषक तत्व नष्ट हो सकते हैं।
त शुष्क त्वचा हेतु पपीते का गूदा व मुल्तानी मिट्टी को पीस कर मिश्रण बनाएं। यह आपके चेहरे का रूखापन तो दूर करेगी ही, साथ ही ब्लैकहेड्स को हटाने में भी सहायक सिद्ध होगी।
त चेहरे की रंगत को निखारने के लिए दो चम्मच शहद, एक चम्मच दूध का पाउडर, आधे नींबू का रस व चुटकी भर हल्दी को मिलाकर पेस्ट बनाएं। इसे 15-20 मिनट तक चेहरे पर लगाने के बाद धो दें।
त ताजे नारियल के पानी को चेहरे पर लगाएं। लगभग पंद्रह मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें। इससे चेहरे पर चमक आएगी।
त थोड़ा-सा दही, टमाटर का गूदा व खीरे का रस मिलाएं। इस मिश्रण को सप्ताह में एक बार चेहरे पर लगाएं। 15-20 मिनट बाद ठंडे पानी से धो दें। इससे चेहरा साफ होगा और रंगत निखरेगी।
त दो चम्मच नमक, एक चौथाई चम्मच बादाम का तेल, आधा चम्मच जौ का सिरका, इन तीनों को अच्छी तरह मिला लें। नहाने से पहले पूरे शरीर पर लगाएं। इससे आपके शरीर की त्वचा को भरपूर पोषण मिलेगा। (उर्वशी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *