आलू-प्याज की तरह न खरीदें ब्रा

ब्रा, सिर्फ एक वस्त्र, तन ढकने का एक तरीका ही नहीं बल्कि यह एक अहसास भी है। आपके व्यक्तित्व के निर्माण में इसका हाथ है। सही आकार के सुडौल वक्ष हर नारी की पहली चाहत होती है और वक्ष का आकार सही रखने में ब्रा का बहुत बड़ा हाथ रहता है। सही ब्रा आपको आराम ही नहीं देती, आत्मविश्वास भी देती है।
घटिया और बिना ब्रांड नाम की ब्रा हमेशा आपको नुकसान ही पहुंचाती है। घटिया कपड़े या क्वालिटी की ब्रा में जहां एक ओर इलास्टिक खराब होने से फिटिंग खराब हो जाती है, वहीं खराब कपड़े की ब्रा से आपको एलर्जी होने का डर बना रहता है, इसलिए यह जरूरी है कि ब्रा खरीदने के काम को हम पर्याप्त महत्त्व दें। कुछ बिंदु जिन पर आपको ध्यान देना चाहिए जब भी आप को खरीदनी हो ब्रा।
** जहां तक संभव हो, ब्रा किसी बड़ी दुकान से खरीदें जहां पर्याप्त स्टॉक और वैरायटीज उपलब्ध होती हों वरना मजबूरी में आपको कुछ न कुछ समझौता करना ही पड़ता है।
** अगर आपके शहर में महिला वस्त्रों के लिए कोई ऐसा शोरूम या दुकान है जहां पर महिलाएं ही या महिलाएं भी काम करती हों तो ऐसी जगह से ब्रा खरीदने में आपको सुविधा रहती है क्योंकि वहां आपको खरीदारी करते समय किसी तरह का संकोच नहीं रहता और अपनी पसंद की ब्रा खरीद सकती है, साथ ही नई वैरायटी के बारे में भी जानकारी पा सकती हैं।
** अगर ऐसी कोई दुकान आपके शहर में नहीं है तो जब भी आप ब्रा लेने जाएं, अपने साथ एक और महिला को लेकर जाएं। इससे आपको अपने लिए ब्रा पसंद करने में उस महिला की राय भी मिल जाती है और आप दोनों आपस में बात कर सकती हैं जिससे आप के मन में यह विचार नहीं आता कि दुकानदार क्या सोच रहा होगा।
** जहां तक संभव हो, सूती कपड़े की ब्रा को प्राथमिकता दें, विशेषकर गर्मी के मौसम में। सूती कपड़े पसीना सोखकर आपको तरोताजा रखते हैं और बीमारियों से बचाते हैं।
** ब्रा यदि बड़े आकार की होगी तो आपके स्तनों को सही सपोर्ट नहीं मिल पायेगी और स्तन लटक जाएंगे, सो इससे बचें।
** इसी तरह ब्रा यदि आवश्यकता से छोटे आकार की होगी तो स्तनों पर अधिक कसाव से ब्रेस्ट कैंसर जैसी भयानक बीमारी होने का खतरा बना रहता है।
** सही ब्रा साइज के साथ-साथ सही कप साइज का ध्यान रखना भी जरूरी है। हर ब्रा साइज में चार कप साइज ए, बी, सी, और डी उपलब्ध होते हैं, आप अपने सही कप साइज की ब्रा ही ले।
** अधिकतर ऑफ व्हाइट या सफेद ब्रा ही उपयोग करें। रंगीन कपड़ों के रंग कई बार आपके स्तनों की त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। हां, विशेष अवसरों या डे्रस के साथ के लिए मैचिंग ब्रा ले लें पर उसे उतनी ही देर पहनें जितनी देर जरूरी हो। बाद में बदल कर सफेद ब्रा ही पहन लें।
** बाजार में किसी नई कंपनी की ब्रा उपलब्ध हो तो ट्राई करने में क्या हर्ज है। हो सकता है उसका साइज/कप साइज/ फिटिंग/इलास्टिक आपको आपकी पहली वाली ब्रा से ज्यादा सपोर्ट दें। हां, ऐसे में पहले केवल एक पीस ही खरीदें, दो-चार बार पहन कर अनुभव करें और तभी और पीस खरीदें। हड़बड़ी में एक साथ तीन-चार मत खरीद लें।
** ब्रा खरीदने में कंजूसी कभी मत करें। यह कौन सा नजर आती है, सोचकर कोई भी कैसी भी ब्रा मत खरीद लें। हां, यह जरूरी नहीं कि आप किसी बड़े नाम वाली कंपनी की ब्रा ही खरीदें। यदि कोई स्थानीय निर्माता अच्छी क्वालिटी की ब्रा बना रहा है और सस्ती भी है तो ले लेने में कोई हर्ज नहीं।
** आपके शरीर का आकार बदलता रहता है, ब्रा के आकार में उसी तरह परिवर्तन हो सकता है, सो जब भी आप ब्रा खरीदने जाएं, पहले तय कर लें कि क्या आप अभी जिस साइज की ब्रा पहन रही हैं वह आपके लिए सही है या आपको किसी परिवर्तन की जरूरत है। ————— (उर्वशी)




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *