कितने आवश्यक हैं सौंदर्य प्रसाधन

आज सौंदर्य प्रसाधनों से बाजार इस तरह से भरा पड़ा है कि महिलाएं असमंजस की स्थिति में रहती हैं कि वे क्या खरीदें और क्या नहीं। यही नहीं, पिछले कुछ वर्षों में महिलाएं अपने सौंदर्य को लेकर सजग हो गयी हैं और अपने सौंदर्य में निखार लाने के लिए शायद ही किसी सौंदर्य प्रसाधन का प्रयोग छोड़ती हैं। इसीलिए सौंदर्य प्रसाधनों का बाजार इतना बढ़ रहा है और नयी-नयी कंपनियां नए-नए प्रोडक्टस बाजार में ला रही हैं।
ये प्रसाधन महंगे होने के साथ-साथ विभिन्न कैमिकल्स युक्त होते हैं और यह त्वचा के लिए आवश्यक है भी या नहीं, इसकी जानकारी के बिना ही महिलाएं इन पर इतना खर्च करती रहती हैं। इन प्रसाधनों का प्रयोग भी महिलाएं एक या दो बार कर छोड़ देती हैं! इसलिए सौंदर्य प्रसाधन खरीदते समय सबसे पहले आवश्यक है कि आपको इस प्रसाधन की आवश्यकता है भी या नहीं, इस पर विचार करना है। आइए जानें कि रोज़मर्रा में हमें किन सौंदर्य प्रसाधनों की आवश्यकता पड़ती है।
क्लींजिंग मिल्कः- क्लींजिंग मिल्क त्वचा के रोम छिद्रों में छिपी नजर न आने वाली धूल गंदगी को साफ करता है जो साबुन से साफ करने पर भी रह जाती है। दिन भर आपकी त्वचा धूल-मिट्टी के संपर्क में आती है जिससे रोमछिद्रों में गंदगी समा जाती है। दिन भर में लगे मेकअप को साफ करने के लिए भी क्लींजिंग मिल्क की आवश्यकता पड़ती है।
फेसवाशः- पहले तो त्वचा की सफाई के लिए साबुन का प्रयोग किया जाता था लेकिन साबुन क्षारीय होते हैं जो त्वचा को रूखा बना देते हैं व त्वचा में खिंचाव लाते हैं इसलिए त्वचा की नमी को सुरक्षित रखने के लिए फेसवाश उपयुक्त है। इससे त्वचा का कुदरती संतुलन बना रहता है।
माश्चराइजरः- मॉश्चराइजर त्वचा को पोषण देता है और त्वचा की प्राकृतिक नमी को बनाए रखता है जिससे त्वचा में सौम्यता बनी रहती है। गर्मियों में आयल फ्री माश्चराइजर का प्रयोग करें।
सन स्क्रीनः- त्वचा विशेषज्ञों का मानना है कि सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणें त्वचा को नुकसान पहुंचाती हैं। इन किरणों के हानिकारक प्रभाव के कारण त्वचा में न केवल संवलापन आता है बल्कि त्वचा कैंसर होने की संभावना भी बढ़ती है। इसलिए त्वचा विशेषज्ञ इससे सुरक्षा के लिए सन स्क्रीन का प्रयोग करने की सलाह देते हैं।
क्रीमः- सर्दियों की सर्द हवाएं त्वचा को खुश्क बना देती हैं। उनके बचाव के लिए कोई अच्छी कोल्डक्रीम आपके पास उपलब्ध होनी चाहिए। रूखी त्वचा को तो हर मौसम में कोमल बनाए रखने के लिए क्रीम की आवश्यकता पड़ती है। इसलिए त्वचा को पोषण प्रदान करने के लिए ओवरनाइट नरिशिंग क्रीम भी अपने पास रखें।
शैम्पूः- स्वस्थ केशों के लिए सबसे आवश्यक है उनकी सफाई, इसलिए अपने केशों के लिए उपयुक्त शैम्पू का चुनाव करें। प्रदूषण, क्लोरीन युक्त पानी बालों को नुकसान पहुंचाते हैं इसलिए किसी अच्छे शैम्पू का चयन करें।
कंडीशनरः- शैम्पू के पश्चात् कंडीशनर का प्रयोग करें। यह आपके बालों की प्राकृतिक चमक और नमी को बनाए रखता है और उन्हें संवारता भी है व खूबसूरत बनाता है।
लिपस्टिकः- लिपस्टिक होंठों को रंगत देती है पर बहुत अधिक लिपस्टिक होंठों को काला भी बना देती है। लिपस्टिक के बहुत अधिक शेडस न खरीदें। ब्राउन, पिंक, मैरून, कोरल शेडस खरीद लें। लिपस्टिक लगाने के लिए लिपलाइनर व लिपब्रश भी अपने पास रखें।
नेल इनेमल व नेल पालिश रिमूवरः- नेल इनेमल हाथों के सौंदर्य को बढ़ा देते हैं। यह बहुत जल्दी सूख भी जाते हैं, इसलिए 3-4 से अधिक नेल इनेमल खरीद कर न रखें। सप्ताह में दो दिन नाखूनों को बिना नेल इनेमल लगाकर रखें।
परफ्यूमः- परफ्यूम आपकी उपस्थिति का खुशनुमा एहसास दूसरों को कराती है और आप भी ताज़गी अनुभव करती है। यह पसीने की दुर्गंध को दूर करती है। प्राकृतिक व हल्की खुशबुओं वाली परफ्यूम का प्रयोग करें जैसे चंदन, लेवेंडर, रोज, जैसमीन, आदि।
आंख :- आंखों के मेकअप के लिए आई ब्रो पैंसिल, आईशैडो लिक्विड या पैंसिल आई लाइनर, काजल पैंसिल, आई लैशिज को घनापन देने के लिए मस्कारा प्रयोग करें।
फेस स्क्रबः- प्रदूषण, मिट्टी, सूरज की धूप के कारण त्वचा पर मृत कोशिकाओं की परत जमती जाती है जिससे त्वचा बेजान नज़र आने लगती है। इसलिए सप्ताह में चेहरे पर एक बार स्क्रब का प्रयोग अवश्य करें। यह गंदगी, मृत त्वचा, ब्लैकहैडस, व्हाइटहैडस को दूर कर त्वचा को नरम, स्वस्थ व सौम्य बनाता है।
चेहरे के मेकअप के लिए –
कंसीलर फाउंडेशन, कांपेक्ट पाउडर, ब्लशर, कॉटन, लिपस्टिक, बिंदी। किसी भी सौंदर्य प्रसाधन को खरीदते समय उसकी क्वालिटी पर विशेष ध्यान दें व अच्छी कंपनी के उत्पादों का ही प्रयोग करें। प्राडक्ट की एक्सपायरी डेट भी अवश्य पढ़े। पुराने प्रसाधनों का प्रयोग त्वचा पर दुष्प्रभाव छोड़ सकता है। (उर्वशी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *