झुर्रियां भगाने के घरेलू उपाय

त्वचा हमारे शरीर का बाहरी आवरण है जो बाहरी कारकों से हमारे शरीर के आंतरिक अंगों की सुरक्षा करता है और शरीर के ताप को नियंत्रित रखता है। यह हमारे स्वास्थ्य का दर्पण भी है। बाहरी कारकों, आघात व बढ़ती उम्र का प्रभाव सर्वप्रथम त्वचा पर ही पड़ता है। बढ़ती उम्र के साथ त्वचा की कमनीयता और लोच खत्म होने लगती है और त्वचा पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं।
बढ़ती उम्र के साथ त्वचा पर पड़ने वाली झुर्रियों को बिलकुल तो नहीं रोका जा सकता लेकिन त्वचा की देखभाल द्वारा झुर्रियां पड़ने की रफ्तार को कम किया जा सकता है। त्वचा से झुर्रियों को दूर करके त्वचा को आकर्षक बनाया जा सकता है। निम्न उपचार द्वारा त्वचा से झुर्रियों को हटाया जा सकता है:-
त पका पपीता काटकर चेहरे पर मलें तथा 15-20 मिनट बाद चेहरा धो लें। इस प्रयोग को लगातार कुछ दिन करने से त्वचा की झुर्रियां दूर होती हैं।
त विटामिन ‘ई‘ से झुर्रियां मिटती हैं। अंकुरित चना व मूंग में विटामिन ‘ई‘ प्रचुर मात्रा में होता है। सुबह-शाम अंकुरित अनाज सेवन करने से झुर्रियों से बचाव होता है।
त आधा चम्मच दूध की ठंडी मलाई में नींबू के रस की 4-5 बूंदें मिलाकर रात में सोते समय झुर्रियों वाली त्वचा पर अच्छी तरह मलें ताकि वह त्वचा में पूरी तरह रम जाय। आधा घंटे बाद त्वचा को धो दें। लगातार 15-20 दिन यह प्रयोग करने से चेहरे की झुर्रियां दूर हो जाती हैं।
त स्नान करने के बाद जैतून के तेल से त्वचा की मालिश करें। अंगुलियों के पोरों को तेल में डुबोकर झुर्रियों की विपरीत दिशा में मालिश करें। इससे त्वचा की झुर्रियां दूर हांेगी।
त गुनगुने पानी में थोड़ा सा बेसन घोलकर पेस्ट सा बना लें। इसे चेहरे की त्वचा पर मलकर त्वचा साफ कर लें। अब एक चम्मच शहद लेकर त्वचा पर लगाएं। चेहरे पर शहद नीचे से ऊपर की ओर लगाएं। आधा घंटे बाद चेहरा व शहद लगे अन्य भाग को धो दें। यह प्रयोग लगातार 6-7 सप्ताह करते रहने से बढ़ती उम्र के कारण उत्पन्न झुर्रियां दूर होती हैं।
त कच्चे दूध में रूई का फाहा भिगोकर चेहरा, गर्दन और हाथों की त्वचा पर 5-10 बार धीरे-धीरे मलें। 10-15 मिनट बाद त्वचा ठंडे पानी से धो दें। निरंतर इस प्रयोग से चेहरे की झुर्रियां दूर होकर चेहरा स्निग्ध व कमनीय बन जाता है।
—— (उर्वशी)
——- अर्पिता तालुकदार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *