बढ़ाते हैं आपकी फेस वेल्यू

आपकी फेस वेल्यू बढ़ाने में जहां आपका चेहरा और आपके नैन नक्श महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं, वहीं आपके बाल भी महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं। स्वस्थ घने खूबसूरत बाल आपके चेहरे के सौंदर्य को दुगुना बढ़ा देते हैं, इसलिए बालों को भी उतनी ही देखभाल की जरूरत होती है जितनी आपकी त्वचा को होती है। कई महिलाएं यह सोचती हैं कि अच्छे शैम्पू का प्रयोग करने मात्रा से ही उनके बाल सुन्दर हो जाएंगे लेकिन ऐसा नहीं है। नियमित रूप से बालों की सफाई और देखभाल ही आपके बालों को स्वस्थ व सुन्दर बनाएगी और आपकी फेस वेल्यू बढ़ जाएगी।
बालों की देखभाल के लिए सबसे पहले जरूरी है अपने बालों के प्रकार को पहचानें। बाल सामान्यतः चार प्रकार के होते हैं-सामान्य बाल, रूखे बाल, तैलीय बाल और मिश्रित। यदि आपके बाल साफ, चमकीले व घने हैं तो आपके बाल सामान्य हैं। ऐसे बालों को कम देखभाल की जरूरत होती है। यदि आपके बाल रूखे, कमजोर और जल्दी टूटते हैं तो आपके बाल रूखे हैं। इसका कारण है बालों में सीबम नामक प्राकृतिक तेल की कमी। सिर की सतह की तेल ग्रन्थियों के कम क्रियाशील होने के कारण बाल जल्दी टूटते हैं व इनके देखभाल की अधिक आवश्यकता होती है। कई बार तैल ग्रंथियां अधिक कार्यशील होती हैं जिससे बाल अधिक चिपचिपे रहते हैं और इनमें धूल मिट्टी ज्यादा जल्दी जमा हो जाती है।
तैलीय त्वचा को तो अच्छा माना जाता है क्योंकि ऐसी त्वचा पर झुर्रियां कम आती हैं पर तैलीय बाल समस्या होते हैं। तैलीय बाल क्योंकि जल्दी गंदे हो जाते हैं इसलिए इन्हें हर एक दिन छोड़ कर साफ करना पड़ता है। मिश्रित बालों में खोपड़ी तो तैलीयता लिए होती है पर शाफ्ट व नीचे से बाल रूखे होते हैं। ऐसे बालों में डैंड्रफ समस्या रहती है।
अपने बालों के प्रकार को पहचान आप उनकी देखभाल निम्न प्रकार से करेंः-
– अपने बालों की सफाई की ओर विशेष ध्यान दें। बालों के प्रकार के अनुरूप शैम्पू का चुनाव करें जैसे रूखे बालों के लिए माइल्ड शैम्पू जिसमें आयल भी शामिल हो, का प्रयोग करें।
त रूखे बालों को सप्ताह में दो बार से अधिक न धोएं पर तैलीय बालों को एक दिन छोड़कर धोएं। इससे बालों में एकत्रित तेल की मात्रा कम होगी।
– बाल धोने के लिए कंडीशनर युक्त शैम्पू का प्रयोग करें। सप्ताह में एक बार बालों की कंडीशनिंग अवश्य करें। रूखे बालों के लिए तो कंडीशनर का प्रयोग बहुत आवश्यक है।
– बालों को धोने से पूर्व आलिव आयल, नारियल या सरसों का तेल जो भी आप प्रयोग करते हैं, लगा कर 15 मिनट तक मालिश करें। मालिश से रक्त संचार बढे़गा व सिर की त्वचा स्वस्थ रहेगी। फिर गर्म पानी से भीगे तौलिए को सिर पर लपेटें ताकि सिर की सतह के छिद्र खुल जाएं और तेल उनमें अच्छी तरह समा जाएं।
– दोमुंहे बालों से निपटने के लिए महीने में एक बार ट्रिमिंग करवाएं।
– बालों के लिए जिस ब्रश व कंघी का प्रयोग करें, उसकी सफाई की ओर भी ध्यान दें। बालों पर ब्रश या कंघी भी नरमी से करें।
– अगर आपके बालों में डैंड्रफ है तो आप बालों की सफाई की ओर आप कम ध्यान दे रहे हैं।
-बालों को साफ रखें और किसी मेडिकेटिड शैम्पू का प्रयोग करें।
-बालों के आंतरिक स्वास्थ्य के लिए संतुलित आहार लें जिसमें प्रोटीन और विटामिन की मात्रा अधिक हो। मीट, मछली, अंडे, फल, सब्जियों का सेवन करें।
-बालों का असमय सफेद होना भी एक समस्या है। लंबी बीमारी, तनाव, विटामिन बी की कमी के कारण भी बालों में असमय सफेदी आ जाती है। इसलिए प्रोटीन व विटामिन बी के स्रोतों का सेवन करें और सफेद बालों को छुपाने के लिए हेयर डाई के प्रयोग की बजाय प्राकृतिक रंग जैसे मेंहदी, आंवला, कॉफी का प्रयोग करें। (उर्वशी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *