रसोईघर में होने वाली दुर्घटनाओं को रोकें

रसोईघर पकवान बनाने की जगह है। इसे दुर्घटनाओं का घर होने से बचायें। प्रायः गृहणियां रसोई घर में ही दुर्घटनाओं का शिकार होती हैं। इसे मात्रा थोड़ी सी सूझ-बूझ से सावधान रहते हुए रोका जा सकता है।
. रसोईघर में खाना-बनाते समय गृहिणी को सूती कपड़े पहनने चाहिएं। ये शरीर के लिए आरामदायक तो होते ही हैं, साथ ही इनमें आग पकड़ने की संभावना भी कम हो जाती है क्योंकि सूत्राी वस्त्रा उतनी शीघ्रता से आग को नहीं पकड़ते जितनी शीघ्रता से रेशमी व कॉटन आदि के वस्त्रा आग को पकड़ते हैं।
. रसोई-घर में खाना-बनाते समय पहने जाने वाले वस्त्रा ऐसे सन्तुलित हों कि वे न अधिक ज्यादा टाइट हों और न ही अधिक ढीले-ढाले ही हों। सन्तुलित वस्त्रों को पहने हुए गृहिणी अच्छी तरह से खाना-बना सकती है। रसोईघर में कार्य करते समय ऐसे वस्त्रा नियन्त्राण में रहते हैं।
रसोईघर में कार्य करते समय चुन्नी का विशेष ध्यान रखें। चुन्नी काफी बार फिसल कर गिर जाती है तथा गिरने से मैली तो होती ही है और गैस आदि पर गिरने से कपड़ों में आग भी लग सकती है, अतः रसोईघर में रहते समय चुन्नी का प्रयोग ही नहीं करें। अगर चुन्नी प्रयोग में लाना चाहें तो फिर उसे दोनों तरफ पिन लगाकर उसे पूर्ण नियन्त्राण में रखें।
. सब्जी को छौंक लगाते समय व तेल में किसी चीज को तलते समय मुंह को हमेशा दूर रखना चाहिए व तेल एवं सब्जी के प्रयोग में लाया जाने वाला चम्मच लंबी डंडी वाला होना चाहिए। सब्जी को छौंक लगाते समय सब्जी वाले बर्तन को गैस पर दूर रख कर छौंक लगायें जिससे छौंक के समय उछलने वाले गरम तेल के छींटे चेहरे पर न पड़ें।
. खाना बनाते समय रसोईघर में एक स्वच्छ सूती कपड़ा अवश्य रखना चाहिए जिससे गैस पर से गर्म बर्तनों को कपड़े की सहायता से सरलतापूर्वक यथास्थान स्थानों पर रखा जा सके।
. रसोईघर में ज्वलनशील तरल पदार्थों को कभी भी नहीं रखें।
. रसोई में सब्जी छौंकते समय गलती से हाथ व चेहरे पर तेल के छींटे पड़ जायें या साड़ी का पल्लू या चुन्नी में आग लग जाये तो ठंडे पानी में वो भाग रखें और छींटे मारे ।
. गैस सिलेन्डर का हमेशा ध्यान रखें। रसोईघर में खाना बनाने के पश्चात गैस चूल्हे को बन्द करने के साथ ही सिलेन्डर के स्विच को भी बन्द कर दें जिससे अगर गैस पाईप लीक भी है तो उससे गैस का रिसाव न हो।
गैस चूल्हे को हमेशा सिलेण्डर की ऊंचाई से ऊपर रखें। अगर गैस पाईप अधिक पुराना होने के कारण कई जगह से मोड़ खा चुका है तो ऐसे पाइप को तुरन्त बदल देना चाहिए।
अगर गैस लीक हो चुकी है व गैस की गंध आ रही है तो रसोईघर के दरवाजे खिड़की स्विच आदि को बिना ऑन-ऑफ करते हुए घर के अन्य दरवाजे व खिड़कियां भी खोल दें जिससे गैस घर से बाहर सरलतापूर्वक जा सके।
. रसोईघर के दरवाजे के बाहर अग्निरोधक गैस सिलेण्डर, फायर फाईटर गैस सिलेण्डर लगाकर रखें तो आप सुरक्षा का दायरा अधिक बढ़ा सकते हैं यह रसोईघर व बिजली के शार्ट-सर्किट व अन्य कारणों से लगने वाली आग पर भी नियंत्राण किया जा सकता है।
. रसोई घर का फर्श आंगन चिकना नहीं रखें। अगर रसोईघर के फर्श पर तेल गिर गया है तो उसे तुरन्त सर्फ के पानी से पोचा मारकर साफ करें। चिकने फर्श पर फिसलने से किसी की भी हड्डी टूट सकती है।
. कभी भी नंगे हाथों से झाड़ कर आग बुझाने का प्रयास न करें। (उर्वशी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *