सौन्दर्य उपयोगी है क्रीम

कोई भी मौसम हो चाहे सर्दी, गर्मी या वर्षा, सभी मौसमों में त्वचा की देखभाल उचित ढंग से करनी चाहिये। तेज हवा, तेज लू चलने से त्वचा झुलस जाती है। बरसात के मौसम में त्वचा चिपचिपाने लगती है।
मौसम की मार से त्वचा को बचाने के लिए त्वचा पर कुछ क्रीम या तेल लगाना पड़ता है। प्राचीन काल में विभिन्न औषधियों व जड़ी बूटियों से मिलाकर तेल तैयार किये जाते थे लेकिन क्रीम के रूप में हमारे देश में प्रयोग नहीं करते थे। इन सुगन्धित प्रसाधनों का प्रयोग सबसे पहले मिश्र के लोगों ने किया। उन्होंने सुगन्धित तेलों का मलहम बनाकर प्रयोग किया। वे विभिन्न तेल, गोंद, पाउडर व जड़ी बूटी, मोम मिलाकर तैयार करते थे।
त्वचा को सुरक्षित रखने के लिए आजकल क्रीम का प्रयोग हो रहा है। क्रीम के प्रयोग से त्वचा पर मालिश ज्यादा नहीं करनी पड़ती। क्रीम की परत त्वचा पर लगाने से सर्द हवा व गर्म हवाओं से त्वचा सुरक्षित रहती है। क्रीम की विभिन्न प्रकार की किस्में बाजार में मिल रही हैं। अगर आप चाहें तो क्रीम घर पर ही तैयार कर सकती हैं।
बादाम का तेल व जैतून का तेल गर्म कर लें। उसमें मोम पाउडर डाल कर अच्छी तरह मिलायें। ठण्डा कर उसमें किसी प्रकार का इत्र डालकर शीशी में भर लें। प्रतिदिन सुबह और शाम लगायें। त्वचा कांतिमय हो जायेगी।
जैतून का तेल नैनोलिन डालकर आग पर रखें। अच्छी तरह मिलायें। नीचे उतारकर उसमें चन्दन का तेल मिलाकर लगायें। यह क्रीम सूखी त्वचा के लिए काफी लाभकारी है।
अगर आपको वैसलीन बनानी है तो सौ ग्राम सरसों का तेल, पचास ग्राम मोम लें। तेल गर्म करने रख दें। दस ग्राम तेल रहने पर उसमें मोम डाल दें। नीचे उतार कर कपूर पाउडर और एसेन्स, चन्दन व केवड़ा डालकर तैयार कर लें। तैयार है आपकी वैसलीन। हाथ पैरों पर लगायें। त्वचा नरम मुलायम बनी रहेगी।
अच्छी किस्म की क्रीम तैयार करनी हो तो विटामिन ‘ए’ कैप्सूल, सुहागा पाउडर, वी वैक्स, तिल का तेल, बादाम का तेल, लिलोलिन, टिंजर, बेंजिमन की कुछ बूंद, कोई मन पसन्द परफ्यूम मिलाकर तैयार करें। अगर आपकी त्वचा दानेदार है तो उसमें फिटकरी पाउडर मिला लें। सूखी त्वचा है तो शहद मिलायें। अगर पसीना ज्यादा आता है तो पुदीने का अर्क डालें। अपनी त्वचा के अनुसार किसी एक चीज को डाल कर तैयार करें।
मुंहासे दूर करने के लिए अगर क्रीम तैयार करती हैं तो बादाम के तेल में चन्दन का तेल, मोम पाउडर मिलाकर गर्म कर लें। नीचे उतारकर उसमें कपूर पाउडर मिला हैं। ग्लिसरीन मिलाकर भर कर रख दें।
प्रतिदिन सुबह शाम चेहरे पर लगायें। गुनगुने पानी से चेहरा धोयें। चेहरे की सफाई का ध्यान रखें व उपयुक्त क्रीम लगायें। भाप भी ले सकती हैं। मुंहासों से जल्दी राहत मिलेगी, वहीं चेहरा स्वच्छ व सुन्दर बनेगा।
क्रीम से जहां त्वचा सुरक्षित रहती है वहीं क्रीम त्वचा को नरम मुलायम बनाये रखती है। औषधि के रूप में भी इनका प्रयोग कर सकते हैं।
 आजकल क्रीमों की अनेक किस्में बाजार में मिल रही हैं। आप चाहें तो उन्हें भी प्रयोग कर सकती हैं। क्रीम लें तो अच्छी कम्पनी की लें। खरीदते समय यह भी देख लें कि एक्सपाइरी  डेट निकल न गई हो क्योंकि कुछ लोग डेट निकल जाने पर अच्छी कम्पनी की चीज को सस्ती कीमत में आपको दे देते हैं और आप सस्ती होने के कारण खरीद लेते हैं।
क्रीम की परत से त्वचा पर हवा का असर नहीं पड़ता, वहीं त्वचा के छिद्रों में धूल मिट्टी एकत्रित नहीं होने पाती इसलिए त्वचा की सुरक्षा के लिए क्रीम का प्रयोग अवश्य करें लेकिन बाजार की क्रीम का प्रयोग करने से पहले यह देख लें कि यह क्रीम आपकी त्वचा पर कोई दुष्प्रभाव तो नहीं डालेगी। त्वचा को सुरक्षित रखने के लिए सस्ता व सुलभ उपाय है क्रीम का प्रयोग करना। बाजार से खरीद नहीं सकती तो घर पर स्वयं तैयार करें।
क्रीम का प्रयोग करने से पहले सफाई का ध्यान अवश्य रखें। उसके बाद ही क्रीम लगायें। कोई भी चीज तभी आप पर असर करेगी जब आपको उसके प्रयोग करने की विधि मालूम हो। ——————- (उर्वशी)




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *