बनें सफल बिजनेस वुमन

अब तक यह फील्ड औरतों के लिए निषिद्ध था लेकिन अब और क्षेत्रों की
तरह महिलाओं ने यहां भी मोर्चा संभाल लिया है और बखूबी संभाला है।
यह सच है कि अन्य कलाओं की तरह बिजनेस की कला भी खून में होती हैं।
दरअसल यह एह्रश्वटीट्यूड की बात है हर महिला के बस का नहीं है सफल
बिजनेस कर पाना।
यहां सीधापन और टिपिकल परंपरागत भारतीय स्त्रियोचित गुण औरतों के
काम नहीं आयेंगे बल्कि काम आयेगी खास तरह की समझदारी और स्ट्रेटजी,
आर्थिक मामलों पर पकड़ और आंकड़ों को लेकर कंफर्टेबल फीलिंग।
आंकड़ों पर कमांड:- बिजनेस का दारोमदार ही रूपयों के लेन देन पर
टिका होता है। इसके लिए हिसाब में पक्का होना जरूरी है। ‘इट्स जस्ट
लाइक स्विमिंगÓ कहती हैं सफल बिजनेस वुमन रीना मुश्वल, यू हैव टू लर्न
इट योअरसेल्फ। दूसरे को स्विमिंग करते देखने से स्विमिंग आने से रही।Ó
वे आगे कहती हैं, ‘रूपये पैसे पर किसी और को लेकर भरोसा करने से
हमेशा धोखा खाने का डर बना रहता है, इसलिए खुद को आंकड़ों के खेल में
पारंगत करना जरूरी है।Ó
दूरदर्शी बनें:- आपके बिजनेस के क्या प्रॉस्पेक्ट्स हैं, क्या भविष्य है, यह
ह्रश्वलान करना जरूरी है। इमीजिएट रिटर्न की न सोचें और न ही तुरंत लाभ न
मिलने पर हताश होकर बैठ जाएं।
सुरीली जायसवाल ने ज्वेलरी की शॉप ऐसी जगह खोली जहां या तो स्टूडेंट्स
रह रहे थे या फिर लोअर मिडल क्लास के लोग। अब ऐसी जगह भला वो
क्या बिजनेस कर सकती थी।
अग्रवाल्स के परिवार में चार लेडी डॉक्टर्स थी। खूब समृद्ध परिवार था। घर
के पुरूष पुश्तैनी बिजनेस कर रहे थे। घर की डॉक्टर्स ने मिलकर एक डेढ़ सौ
बेड वाला बड़ा अस्पताल बनवा लिया जिसमें काफी आधुनिक मशीनें,
पेरामेडिकल स्टाफ और अस्पताल से जुड़ा सारा तामझाम सब कुछ था। शहर
से दूर सुनसान में बना यह अस्पताल किसी मरीज को अपनी ओर आकर्षित

न कर सका।
बगैर सोचे समझे ह्रश्वलान किया गया अस्पताल अंत में सफेद हाथी ही सिद्ध
हुआ।
निवेश से पूर्व:- पैसा मल्टीह्रश्वलाई कौन नहीं करना चाहेगा। आप भी जरूर
करें। कई बार आपको एक मुश्त ढेर सा पैसा मिल जाता है जिसे लूटने को
तत्पर सिर्फ अपने कहे जाने वाले रिश्तेदार ही नहीं होते, गैर भी होते हैं, तरहतरह
के लुभावने विज्ञापनों की शक्ल में लेकिन उनमें पैसा निवेश करने से
पहले अक्ल से काम लें। पहले उनके बारे में जानकारी प्राप्त करें। अपने संदर्भ
में उसकी उपयोगिता को हर पहलू से जांचें, तब ही आगे बढ़ें।
गोल्ड और प्रॉपर्टी में निवेश करने से कभी नुकसान नहीं उठाना पड़ेगा। शेयर
में निवेश करना तभी अच्छा होगा जब आप लंबे समय तक होल्ड करने की
हैसियत में हों। निवेश से पूर्व भरोसेमंद सूत्रों से सलाह लेना उचित रहेगा।
सलाह के लिए :- एक यंग एंटरप्रेनर झरना ने जब खुद का बिजनेस शुरू
किया तो अपने पापा से सलाह न लेकर उसने अंकल से मशवरा लिया। वो
पापा को खूब पैसा कमाकर सरप्राइज देना चाहती थी। पापा दूर विदेश में थे।
अंकल ने राय दी कि कुछ बनना है तो जोखिम तो उठाना ही पड़ेगा। उन्होंने
उसे लाखों का लोन सैंक्शन कराने का वादा भी कर लिया लेकिन भला हो
उसकी सखी सोहना का जिसने उसे ऐसा करने से मना करते हुए सही
जानकारी के लिए भरोसेमंद सूत्रों को एप्रोच करने की सलाह दी। ये सूत्र थे
इकॉनॉमिक टाइम्स, मनी कंट्रोल डॉटकॉम वेबसाइट। इसके अलावा वैल्थ
मैनेजर सी.ए. एम बी ए. से भी राय ली जा सकती है।
अंतिम निर्णय आपको स्वयं ही लेना होगा। अपनी योग्यता, आर्थिक स्थिति
और अपने लक्ष्य का आकलन आप स्वयं ही बेहतर कर सकती हैं। सही
दिशा में प्रयास और निवेश जो कि आपको करोड़पति बना सकता है, के साथ
मजबूत इच्छाशक्ति, लगन परिश्रम व आत्मविश्वास भी चाहिए सफल
बिजनेस वुमन बनने के लिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *