आप को भी जानना जरूरी है, अरेंज मैरिज करने के 10 फायदे?

अरेंज मैरिज करने के फायदे जानें क्यों अच्छी होती है,अरेंज मैरिज करने से होते है ये लाभ
शादी हर व्यक्ति के जीवन का अहम् हिस्सा होता है जिससे जुड़े सभी फैसले वे अपनी सूझ बुझ और समझदारी के साथ लेते है। ऐसे में जब बात अरेंज और लव मैरिज के बीच फंसती है तो लोग काफी सोच विचार में डूब जाते है। बहुत से लोग अरेंज मैरिज का नाम सुनते ही परेशान से हो जाते है। उनके मन में ढेरों ताम-झाम और रस्मों-रिवाज के ख्याल आने लगते है।
जहां एक तरफ लड़के अपनी नयी जिंदगी की शुरुवात के सपने देखने लगते है वहीं दूसरी तरफ लड़कियां यही सोच-सोच कर परेशान होती रहती है की कोई ऐसे किसी अनजान आदमी के साथ अपनी पूरी जिंदगी बिता सकता है। लेकिन इन सभी सवालों के बाद भी आज लोग अरेंज मैरिज में विश्वास रखते है और शायद इसी कारन से वर्तमान भारत में अरेंज मैरिज युवाओं की पहली पसंद बनती जा रही है।
कोई इसे ज्यादा सफल मानते है तो किसी का मानना है की अरेंज मैरिज में तलाक की संभावनाएं कम होती है। लेकिन ये भी सत्य है पिछली कई सदियों से हमारे पूर्वज और माता पिता अरेंज मैरिज पर ही विश्वास करते है। शायद इसीलिए अरेंज मैरिज ज्यादा सफल और अच्छी मानी जाती है। यहाँ हम आपको अरेंज मैरिज के कुछ फायदों के बारे में बताने जा रहे है। जिन्हे जानकर आप भी इसके लिए मना नहीं कर पाएंगी।

अरेंज मैरिज करने के फायदे :-
1. इज्ज़त :
भारतीय संस्कृति में जहां रिश्तों को पूर्ण अहमियत दी जाती है उतनी ही इज्ज़त समाज को भी दी जाती है। और जब आप अरेंज मैरिज करते है तो शादी आप ही की कास्ट और बिरादरी में होती है जिससे परिवार तो खुश होता ही है साथ-साथ समाज में भी इज्ज़त मिलती है।

2. समझौता नहीं :
अरेंज मैरिज में एक ही कास्ट में शादी की जाती है जिससे आपको त्योहारों और संस्कारों को समझने में परेशानी नहीं होती। जिससे लड़ाई झगडे की संभावना काफी कम हो जाती है। भले ही रिवाजों में कुछ भिन्नता हो सकती है लेकिन उसके लिए आपको किसी प्रकार का समझौता नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि वहां आपको समझाने के लिए आपके ससुराल वाले मौजूद होंगे।
3. एक दूसरे को जानने के लिए :
अरेंज मैरिज में आप अपने जीवनसाथी से पहले कभी मिले नहीं होते। और न ही इससे पूर्व आपने कभी उनके साथ टाइम स्पेंड किया होता है। जिससे आप दोनों एक दूसरे को जानने का पूरा समय लेते है। किसी तरह का प्रेशर नहीं होता। और इसी समय के बीच आप दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगते है। जिससे रिश्ता और मजबूत हो जाता है।
अरेंज मैरिज के शुरुवाती साल एक दूसरे को समझने में ही निकल जाते है जिससे आपकी लाइफ का ये समय हंसी खुशी एक दूसरे को वक्त देने में ही व्यतीत हो जाता है। साथ ही इस बीच परिवार की ओर से भी दबाब बना रहता है जिससे आप काफी समय एक दूसरे के साथ बिताने लगते है। अन्य शब्दों में कहें को दांपत्य जीवन के साथ परिवार को लेकर चलने का नाम ही अरेंज मैरिज है।
5. पारिवारिक सपोर्ट :
कई बार अरेंज मैरिज के बाद भी शादी शुदा जीवन में कठिनाईयां आने लगती है। जिसके चलते पति पत्नी के मध्य लड़ाई झड़गे होने लगते है। ऐसे में परिवार वालों का सपोर्ट उन्हें समझाने और साथ लाने में मदद करता है। क्योंकि उन्हें पता है की किस बात पर कौन भड़क सकता है और कौन सी बात आपको खुश करने के लिए काफी है?
6. ढाल के रूप में परिवार :
अरेंज मैरिज में परिवार इस रिश्ते की ढाल बने रहते है। कुछ समय लगता है एडजस्ट होने में लेकिन अगर साथ परिवार रूपी ढाल हो तो कोई परेशानी बड़ी नहीं लगती। साथ ही आप कभी भी समय अपने परिवारजनों से मिल सकते है बातें कर सकते है। और मुसीबत में उन्हें याद कर सकते है।
7. ताने नहीं मिलते :
यह शादी परिवार जनों की रजामंदी से होती है जिससे शादी के बाद लड़की या लड़के किसी को भी परिवार वालों के तानों का सामना नहीं करना पड़ता। लड़की या लड़के का रंग रूप चाहे जैसा भी हो यह परिवार वालों की पसंद होती है जिससे वे कभी उनके रूप रंग पर ताने नहीं कस्ते। जो की अक्सर लव मैरिज में होता है। साथ ही यहाँ उनकी अच्छाइयों को देखा जाता है। और सराहा भी जाता है।
8. थोड़ी परेशानी झेलनी पड़ेगी :
परन्तु अरेंज मैरिज में सब ठीक हो ऐसा जरुरी नहीं। थोड़ी परेशानी हो सकती है। क्योंकि शादी के बाद आपकी मन की नहीं चलते आपको परिवार वालों के हिसाब से चलना होता है। उनके नियम और कायदों को मानना होता है। हां, शुरुवात में एडजस्ट करने में थोड़ी दिक्क्त होगी लेकिन धीरे धीरे सब नार्मल हो जाएगा।
9. लड़कियों के लिए थोड़ी समस्या :
शादी के बाद लड़कियों को ज्यादा परेशानी झेलनी होती है। क्योंकि वे घर की नयी बहु होती है जिन्हे घर के हर छोटे से छोटे रीती रिवाजों को समझना पड़ता है। हालांकि इसमें कोई बुराई नहीं है क्योंकि अरेंज मैरिज में परिवार खुद को सारी चीजों को समझा देते है। जिससे आप लंबे समय तक अच्छे संबंधों के बीच रह सकते है।
10. एक-दूसरे की पसंद :
अरेंज मैरिज में भले ही परिवार वालों आपके जीवनसाथी को चुनते हो लेकिन आपको उन्हें समझने और जानने का थोड़ा समय दिया जाता है। जिससे आप उनको पहचान सकते है। और ये भी सत्य है बिना आपकी रजामंदी के परिवार वाले आपकी शादी नहीं करेंगे। तो अगर आपको सामने वाला / वाली पसंद है तो ही शादी के लिए हां, कहें वार्ना मना कर दें।
तो ये थे अरेंज मैरिज के कुछ फायदे। जिन्हे जानकर शायद आप भी समझ गए होंगे की क्यों आजकल लोग अरेंज मैरिज की ओर आकर्षित हो रहे है। और क्यों परिवार वाले भी इसके लिए सपोर्ट करते है।

स्रोत:www.whatinindia.com
https://play.google.com/store/apps/details?id=org.apnidilli.app

http://www.apnidilli.com/

http://adnewsportal.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *