सिर्फ 2 बातों का रखें ध्यान, पति हमेशा रहेगा आपका दीवाना

मिठास भरा दांपत्य मन में संपूर्णता का अहसास जगाता है।
समय-समय पर एक-दूसरे को सरप्राइज देना भी है जरूरी।
अपने रिश्ते के बीच तनाव को ना आने दें।

मिठास भरा दांपत्य मन में संपूर्णता का अहसास जगाता है। जिस तरह हम अपने घर को व्यवस्थित और साफ-सुथरा रखते हैं, ताकि हम सभी स्वस्थ्य रहें। ठीक इसी प्रकार रिश्ते को स्वस्थ रखने के लिए भी पति-पत्नी दोनों को हरदम थोड़ा-थोड़ा प्रयास करते रहना चाहिए। रिलेशनशिप एक्सपर्ट्स भी कहते हैं कि आपके बीच मतभेद भले ही हों, लेकिन मनभेद न होने पाए अर्थात दिलों में दूरी न होने पाए। आज हम कुछ ऐसी टिप्स बता रहे हैं जो आपके रिलेशनशिप को मजबूत बनाती हैं।
बाहर और अंदर एक जैसे रहें
वैवाहिक रिश्ता तभी सही मायने में सफल रहता है, जब आप अपने साथी के प्रति अंदर और बाहर से एक जैसे होते हो। कहने का आशय यह है कि ऐसा न हो कि समाज और परिवार के सामने तो आप बहुत आदर्श रहती हों, लेकिन अपने साथी के साथ आपका व्यवहार कुछ और ही हो। ऐसा होने पर एक न एक दिन अपने साथी से आपका मतभेद हो सकता है। इसलिए अपने व्यवहार को हमेशा संतुलित रखें और हमेशा एक जैसा व्यवहार करें।
सरप्राइज जरूरी है
समय-समय पर एक-दूसरे को सरप्राइज देने से रिश्ते में गर्माहट आती है। यह सरप्राइज कुछ भी हो सकता है जैसे किसी छुट्टी के दिन कहीं बाहर घूमने का प्रोग्राम बना सकती हैं, किसी अच्छी फिल्म के टिकट बुक करवा सकती हैं, सरप्राइज पार्टी या कैैंडिल लाइट डिनर का प्रोग्राम बना सकती हैं। आप चाहें तो अपने साथी के लिए उनकी प्रिय डिश भी बना सकती हैं। ये छोटी-छोटी बातें हमारे रिश्ते को मजबूत बनाती हैं।
छुट्टी का आनंद
एक-दूसरे के लिए समय निकालें, जो कार्य आपको साथ करने में आनंद देते हैं उन्हें करने की कोशिश करें। उदाहरण के लिए साथ बैठकर फिल्म देखना, मनपसंद गाने सुनना, किचन में हाथ आजमाना, किसी पार्क में जाना आदि। ऐसा जरूरी नहीं है कि आप लोग तभी तभी मजे कर सकते हो जब आपके पास खूब सारा पैसा है। बल्कि आप घर पर बैठकर भी एक दूसरे के साथ क्वॉलिटी समय बिता सकते हो।
अनुभव शेयर करना
आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव हर पल हमारा पीछा करता है। इस समस्या का समाधान है अपने अनुभव शेयर करना। अपने जीवनसाथी के साथ हर छोटी-बड़ी बात बांटिए और उन्हें भी इसके लिए प्रेरित करें। हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि इस दौरान कोई भी आपको डिस्टर्ब न करे। आप चाहे तो ऑफिस से घर लौटने के बाद, चाय पीते वक्त अपने पति के साथ दिनभर के अनुभव साझा करें। लेकिन याद रखें कि आपसी बातचीत के दौरान ऐसा विषय न उठाएं, जो विवाद का कारण बने। एक-दूसरे के साथ अपनी परेशानियां बांटने पर मन हल्का होता है, पर उसमें देर तक उलझे रहना ठीक नहीं। इसके साथ ही यह अवश्य जाहिर करें कि अपनी बात शेयर करके आप भावनात्मक जुड़ाव महसूस करती हैं। बातचीत का सिलसिला शुरू करने के लिए अपनी ओर से पहल करने में भी कोई हर्ज नहीं है।
घर का बजट
सफल वैवाहिक दांपत्य के लिए जरूरी है कि आप दोनों साथ बैठकर घर के खर्चों का बजट तैयार करें और इस पर चर्चा करें कि जरूरत पडऩे पर इसे कम कैसे कर सकते हैं। एक बात का विशेष ध्यान रखें कि घर के खर्चों के साथ ही बचत करना भी बहुत जरूरी है। इसलिए हर महीने कुछ न कुछ पैसा बचाने का प्रयास करें। भविष्य में आवश्यकता के लिए हेल्थ या बीमा से संबंधित स्कीम में भी निवेश करना बहुत आवश्यक है।

स्रोत:www.onlymyhealth.com
https://play.google.com/store/apps/details?id=org.apnidilli.app

http://www.apnidilli.com/

http://adnewsportal.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *